जब बचपन हुआ करता था – Hindi Poem हिंदी में कविता

कहानी अपने मित्रों को शेयर कीजिये

जब बचपन हुआ करता था – Hindi Poem हिंदी में कविता ।

childhood-photo-hindi-kavita-hindi-poem-images

वो फटा हुआ जेब हमेशा , भरा-भरा रहा करता था

अठनी की भाव से ,  दुनियां का शौदा किया करता था ।

वो दिन ही क्या था यारो ! जब बचपन हुआ करता था ।

ना फिक्र थी लोगों की , सब कुछ दिल से किया करता था।

     लड़ते थे आपस में ही ,पर अलग रहने का दिल न करता था ।

     वो दिन ही क्या थी यारों ! जब बचपन हुआ करता था ।

    गर्मियों की छूटी में , आम- अमौरी चुना करता था ।

     अब वो लंगोटिया यार कहां ! जो निःस्वार्थ होमवर्क बनाया करता था ।

     वो दिन ही क्या था यारो ! जब बचपन हुआ करता था।


    सिमट सी गई है जिंदगी , जो कभी खुलकर जिया करता था ।

     बॉस की इशारों पर हूँ नाचता ,  जो कभी  खुद का सुना करता था ।

     वो दिन ही क्या था यारो ! जब बचपन हुआ करता था ।
                   

                                              © अविनाश अकेला

    दोस्तो ! आज मैं लाइफ मे पहली बार हिंदी में कविता लिखा हूँ , मुझे कविता लिखने की कोई ग्रामर पता नही है so आप इसे पढ़े औऱ enjoy करें मेरी hindi Grammar पर ध्यान ना दें । और पसंद आ जाये तो शेयर भी कर दे इस हिंदी में कविता को ।
    धन्यवाद ☺☺

    Support  my writing work
    (अगर आप मेरे काम को पसन्द करते हैं और आप इसे निरंतर पढ़ते रहना चाहते हैं तो कृपया  donate करें )

    इन कहानियों को अवश्य पढ़े हैं :-


    कहानी अपने मित्रों को शेयर कीजिये

    1 Comment

    1. बहुत अच्छी कविता लिखा है आपने

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.