StoryBaaz

teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 14। हिंदी कहानी

Author- अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 13 पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें   वैसे यह समझाने से ज्यादा मुझे डराने की कोशिश कर रहा था । वह खुद को  कॉलेज के  बहुत बड़ी तोप ( पावर फुल ) मानता था । उसे लगता था कॉलेज के सारे फैकल्टी और पूरे स्टूडेंट उसके साथ […]

This entry is part 14 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 13। हिंदी कहानी

Author- अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 12 पढने के लिए यहाँ क्लिक करे अगले दिन मैं और दीपा सुबह ठीक 9:00 बजे कॉलेज पहुंच चुके थे । उस दिन कॉलेज में प्रत्येक दिन की अपेक्षा कुछ ज्यादा ही हलचल थी।  उस दिन  हमारे कॉलेज मे छात्रसंघ चुनाव के लिए उम्मीदवारों का नॉमिनेशन शुरू होने […]

This entry is part 13 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 12। हिंदी कहानी

Author – अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 11 पढने के लिए यहाँ क्लिक करे “बस यही की  तुमने आदिती बहू की जो गहने चोरी की है उसे बहू को वापस कर दो।” मौसी गुस्से से बोली। “मैंने चोरी की है ? आप यह क्या बके जा रही है ?” दीपा भी इस बार गुस्से […]

This entry is part 12 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 11। हिंदी कहानी

Author – अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 10 पढने के लिए यहाँ क्लिक करे “अरे उन जैसी लड़कियों के यही काम होती हैं।वो लोग  सबसे पहले किसी अमीर लड़के को फंसाती हैं फिर उसके घर वालों के सामने अच्छे बनने की नाटक करती है और उसके घर आती- जाती रहती है फिर मौका देखकर […]

This entry is part 11 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 10। हिंदी कहानी

Author – अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 09 पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें ”पागल हो ? इतनी रात को अगर हम दोनों को एक साथ आदिती दी (दीदी) या कोई और देख लेगा तब बवाल      हो जायेगा।” दीपा मुझे समझाती हुई बोली। “अरे तुम भी ना! तुम  खाम-खा डर रही हो। […]

This entry is part 10 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 09। हिंदी कहानी

Author – अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 08 पढने के लिए यहाँ क्लिक करे   “अच्छा आप हो ! क्यों जी इतनी जल्दी क्यों जाना चाह रही हैं ? थोड़ा मेरे तरफ से भी रुक जाइए।” अर्जून भैया बोले। उस दिन भैया के बात से पता चल रहा था कि उस दिन भैया काफी […]

This entry is part 09 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 08। हिंदी कहानी

Author-  अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 07 पढने के लिए यहाँ क्लिक करें “अरे हां मैं उसी की बात कर रही हूं। मुझे तो उसकी रहन-सहन बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता है। पता नहीं कैसी लड़की है?”  सुजाता मौसी कटुता भरी स्वर में बोली। “दीदी आप उसके बारे में गलत सोच रही है। दीपा […]

This entry is part 08 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 07। हिंदी कहानी

Author-  अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी Part- 06 पढने के लिए यहाँ क्लिक करें “बस ऐसे ही ” मैंने थोड़ी धीमी आवाज में बोला। “फिर भी क्या हुआ? ऐसा क्यों बोल रहे हो ? ” उसने दोबारा पूछी। “वैसे तुम्हारे क्लास में एक अमिताभ बच्चन जैसी दाढ़ी रखा कोई लड़का है ?” मैंने पूछा। “हां …..हां…..उसका […]

This entry is part 07 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 06। हिंदी कहानी

Author- अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 05 पढने के लिए यहाँ क्लिक करें   एक-दूसरे को अच्छी तरह से समझ लिए थे । अब हमारी बातें फोन पर भी घंटो- घंटे तक होने लगी थी। मैं कई दिनों से यह सोच रहा था। यार! दीपा को प्रपोज कर दूं लेकिन साला यह अपना फट्टू  […]

This entry is part 06 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
teri -meri aashiqui banner new

Teri-Meri Aashiqui। तेरी – मेरी आशिकी। Part – 05। हिंदी कहानी

Author – अविनाश अकेला  तेरी-मेरी आशिकी का Part- 04 पढने के लिए यहाँ क्लिक करें  लेकिन वो लोग भी नहीं बता पाए की आखिर जूता कहाँ हैं और ये जूते ग़ायब  कैसे हुआ ? तभी वहां पर भैया के कुछ सालियाँ आयें और जूते देने की बदलें में भैया से रीति-रिवाज के अनुसार पैसे मांगे। […]

This entry is part 05 of 21 in the series तेरी - मेरी आशिक़ी
error: कॉपी मत कीजिये !